Yaadein Shayari

phele to baat kuch or thee…,

phele to baat kuch or thee…,
koi tha apna jispr haq jtate the hum…,
ab halat kuch is kadar badle hai humare…,
ki khud pr he haq hamara nhi raha…,

पहले तो बात कुछ और थी…,
कोई था अपना जिसपर हक़ जताते थे हम…,
अब हालात कुछ इस कदर बदले है हमारे…,
की खुद पर ही हक़ हमारा नही रहा…,

phele to baat kuch or thee

Jis ke labon pr mera naam tha ek din…,

Jis ke labon pr mera naam tha ek din…,
Aaj ussi naam ko badnam kr diya hai…,
Jis ke sath jude the mere sapne kabhi…,
Aaj unhie sapno ko us begairaat ne ujad diya hai…,

जिस के लबों पर मेरा नाम था एक दिन…,
आज उसी नाम को बदनाम कर दिया है…,
जिस के साथ जुड़े थे मेरे सपने कभी…,
आज उन्ही सपनो को उस बेगैरत ने उजाड़ दिया है…,

Jis ke labon pr mera naam tha ek din

Us bedard ke bina ek pal bhi chen se na guzra hai…,

Us bedard ke bina ek pal bhi chen se na guzra hai…,
Khawab tute humare dil ke, kismat ka aaina bhi tut kr bikhra hai…,
Us ki yadon ke siwa ab koi sahara nhi bacha hai hmre pass…,
hamari to har pal aaj bhi ussi ke intazar mein guzara hai…,

उस बेदर्द के बिना एक पल भी चैन से न गुज़रा है…,
ख़्वाब टूटे हमारे दिल के, किस्मत का आइना भी टूट कर बिखरा है…,
उस की यादों के सिवा अब कोई सहारा नहीं बचा है हमरे पास…,
हमारी तो हर पल आज भी उसी के इंतज़ार में गुज़रा है…,

Us bedard ke bina ek pal bhi chen se na guzra hai

meri barbadi pr koi malal na karna…,

meri barbadi pr koi malal na karna…,
bhul jana mujhe or mera khayal na krna…,
jo beet gya wo ab wapas aa nhi skta…,
mile aagr kabhi mouka to aatit ka koi sawal na karna…,

मेरी बर्बादी पर कोई मलाल न करना…,
भूल जाना मुझे और मेरा ख्याल न करना…,
जो बीत गया वो अब वापस आ नहीं सकता…,
मिले अगर कभी मौका तो अतीत का कोई सवाल न करना…,

meri barbadi pr koi malal na karna

Glati kis ki thee us waqt, ye koi nhi janta…,

Glati kis ki thee us waqt, ye koi nhi janta…,
Aasu nikle us ke magar mera dard koi nhi jnata…,
Bewafa nhi hai wo, ye sab ne iqrar kar liya….,
Us k intazar m kya haal hai mera ye koi nhi janta…,

गलती किस की थी उस वक़्त, ये कोई नही जानता…,
आँसू निकले उस के मगर मेरा दर्द कोई नहीं जनता…,
बेवफा नही है वो, ये सब ने इक़रार कर लिया….,
उस क इंतजार म क्या हाल है मेरा ये कोई नही जानता…,

Glati kis ki thee us waqt, ye koi nhi janta

Dhoka bhale he usne diya mujhe…,

Dhoka bhale he usne diya mujhe…,
Magar aaj bhi pyar karta hu use…,
Mile to bahut hamdard mujhe…,
Magar intazar mein hu aaj bhi sirf uske…,

धोका भले ही उसने दिया मुझे…,
मगर आज भी प्यार करता हू उसे…,
मिले तो बहुत हमदर्द मुझे…,
मगर इंतज़ार में हु आज भी सिर्फ उसके…,

Dhoka bhale he usne diya mujhe